नया Ishq

तेरी यादों का ये
अब बस इतना ही सफ़र था।

छुप गई थी तेरे साये में,
इस रोशनी से मेरा कल बेखबर था।

जी रही हूं अब पहले से ज्यादा ,
शायद तेरा ही ये असर था।

जाना मैंने खुद को बेहतर,
क्योंकि,
खुद से मोहब्बत का ये,
शुरू एक नया सफ़र था।

1+
Share with others

One thought on “नया Ishq

Leave a Reply

Your email address will not be published.