यूः तो मैं मोहब्बत की गवाही नहीं देती पर इश्क़ है मुझे तेरी बातों से..

यूः तो मैं मोहब्बत की गवाही नहीं देती

पर इश्क़ है मुझे तेरी बातों से,

कुछ मतलब नहीं मुझे इस दुनिया से 

पर मतलबी हूँ तेरे साथ के लिए, 

किसी के ताने आग बबूला कर देते हैं पर तेरे टोकने भर में प्यार नज़र आता है। 

मेरे करीब आए कोई तो छुप जाती हूँ मैं कहीं

तू दूर जाए तो दौड़ लगाने को तैयार हूँ। 

मेरी चीज़े कोई छूः कर दिखाए 

दिन में तारे नज़र आएँगे, 

हमारी चीज़े को तेरी मेरी करने की भूल ना करना वरना दो चार दाँत बाहर नज़र आएँगे। 

मुझे तेल की गंध पसंद नहीं, 

पर पास ही नींद आती है। 

तुझसे गुस्सा कितना भी कर लूँ, 

पर दिल को तेरी ही हस्सी भाती हैं। 

नौटंकी पर लोगो की मुह तोड़ने को जी चाहता है, 

पर तेरी नौटंकी में सिर्फ़ तेरा बचपन नज़र आता है। 

जब तुझे बुरा लगता है 

रोना मुझे भी आता है, 

तेरी एक मुस्कान के लिए 

ये दिल मचल जाता है। 

हज़ार दर्द कुर्बान है तुझ पर मेरी जान, 

अपनी जैसी दोस्ती 

हर कोई कहा निभा पाता है। 

 

+2

Leave a Reply

Your email address will not be published.